मंगलवार, 26 मई 2009

आखिर मैने ब्लोग्वानी का लिंक ढून्ढ लिया...

खिरकार बहुत मेहनत के बाद, काफ़ी लोगो को से बात कि, पोस्ट भी लिखी, ब्लोगवानी पर भी ५ -६ बार सम्पर्क किया लेकिन कुछ नही हुआ, पर वो कह्ते है ना....अपना हाथ जगन्नाथ, बस सुबह से लगे थे कि किसी तरह से किसी के ब्लोग से लिन्क मिल जाये...

अन्त मे एक ब्लोग से वो लिन्क चुरा लिया लेकिन यह चोरी सिर्फ़ अपने ब्लोग के लिये कि है, और उस ब्लोग को कोइ नुक्सान नही हुआ है, बस यही सन्तुष्टि करने के बाद हई यह काम किया है,

तो भाइयो मेरी इस चोरी कि लाज रखना और मेरा ब्लोग अच्छे से पढ्ना....

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

आपके टिप्पणी करने से उत्साह बढता है

प्रतिक्रिया, आलोचना, सुझाव,बधाई, सब सादर आमंत्रित है.......

काशिफ आरिफ

Related Posts with Thumbnails