शनिवार, 31 जनवरी 2009

बदहाल भारत संचार निगम लिमिटेड.....!!!!!!

आप लोग सोच रहे होंगे की मैंने ऐसा क्योँ लिखा यह तो सबको पता है दरअसल मैंने ऐसा सुना था लेकिन कभी झेला नही था पर अब मुझे उस दर्द का एहसास हुआ जो बी.स.न.ल. के उपभोक्ताओं को होता है क्यूंकि मैं अब इनका उपभोक्ता बन चुका हूँ.

जी हाँ यही सबसे बड़ी वजह है की मैं वापसी के १२ दिन बाद लेख लिख रहा हूँ क्यूंकि मैं बीएसएनएल का उपभोक्ता हूँ, जो अपने उपभोक्ता के पैसे, वक्त, और दिमाग का उपभोग करते हैं,

मैंने तो ले लिया है क्यूंकि मेरे पास कोई और रास्ता नही था लेकिन मैं आपको यही सलाह दूँगा की आप कभी भी बीएसएनएल के उपभोक्ता नही बने....

मैं आपको उनकी पुरी प्रक्रिया बताता हूँ की यह लोग कैसे काम करते हैं.....जब आप कनेक्शन लेने के लिए जायेंगे तो आपको अच्छी तरह सब कुछ समझाया जाएगा की कितनी स्पीड आएगी, कितनी लिमिट है, और वगेरह वगेरह, आपसे कहा जायेगा की आपका कनेक्शन ज़्यादा से ज़्यादा ७ दिन में एक्टिवेट हो जाएगा...पैसे जमा करने के बाद जब आप अपना काम छोड़ कर घर पर इंतज़ार करेंगे की उनके जिम्मेदार कर्मचारी आपका कनेक्शन लगाने आ रहे हैं लेकिन १० दिन तक कोई नही आएगा जब आप हेड ऑफिस जायेंगे तो आपको वहां से एक्सचेंज भेज दिया जाएगा की कनेक्शन लगाने वहां से आयेंगे आपका कनेक्शन वहां का है, एक्सचेंज पहुचने पर पता चलेगा की आपका ADVICE NOTE ग़लत बना है इसमे आपके कनेक्शन की डिटेल नही है, आप इसको हेड ऑफिस से ठीक करा लीजिये मैं आज ही आपका कनेक्शन लगवा दूँगा, जब आप हेड ऑफिस पहुचेंगे तो कंप्यूटर ओपेरटर आपको कल आने के लिए बोलेगा कहेगा की आपका काम आज नही हो सकता यह तो कल होगा जब आप उसको हिन्दी में समझायेंगे तो कहेगा की ठीक है रुकिए मैं आधे घंटे में करके देता हूँ, फिर उस ADVICE NOTE को साइन कराने के के लिए आपसे टेबल - टेबल चक्कर लगवाये जायेंगे और फिर ४ घंटे की मेहनत के बाद जब ADVICE NOTE बनवाकर एक्सचेंज पहुचेंगे तो आपसे कहा जाएगा की ठीक है आपका मोडेम कल issue हो जाएगा और पाँच दिन बाद आपका कनेक्शन चालू हो जायेगा क्यूंकि आपका id और password बंगलुरु से तीन - चार दिन में आएगा आपको मोडेम मिलेगा तीन दिन बाद और ID और Password मिलेगा सात दिन के बाद कुल मिलकर आपके अट्ठारह दिन लगेंगे कनेक्शन शुरू होने में लेकिन वो कनेक्शन एक दिन से ज़्यादा नही चलेगा क्यूंकि उनका कर्मचारी आपका कनेक्शन ग़लत कर गया है अब उसको ठीक कराने के लिए चक्कर लगाओ, वो ठीक हो जाए तो फिर अपना ID और Password रिसेट कराने के लिए चक्कर लगाओ, कोई आपसे सीधे मुंह बात नही करेगा, आपको पहचानने से इनकार कर देगा अगर आपने उसके आराम में ज़्यादा खलल डाली तो,
कोई जवाब देही नही है कोई पूछने वाला नही है की तुमने यह काम क्योँ नही किया, नीचे से लेकर ऊपर तक सब लोग लापरवाह, आलसी, और बेईमान है,
बीएसएनएल सबको इन्टरनेट की सर्विस दे रहा है लेकिन वो अपने दफ्तरों को इन्टरनेट से नही जोड़ सका अभी भी काम files मे हो रहा है,
बीएसएनएल का ऊपर वाला ही मालिक है....

4 टिप्‍पणियां:

  1. ऊपर वाला काहे जी.. हमारे देश के निकम्मे कर्मचारी मालिक है इनका..

    उत्तर देंहटाएं
  2. Sahi kaha aapne. BSNL ke babu logon ka atitude abhi bhi badla nahin hai.Ghalti deptt ki bhi ho to daudna customer ko hi padta hai.
    Waise ye bhi kahna chahoonga ki BSNL broadband baki services se kifayti hai aur speed ke mamle mein pvt player bhi kuch achchha nahin kar pa rahe hain

    उत्तर देंहटाएं
  3. निश्चित रूप से स्थानीय गड़बड़ी लगती है मुझे… हमारे उज्जैन में मेरे पास भी BSNL का ही Broadband है (गत चार साल से), आज तक मुझे सिर्फ़ तीन बार ही BSNL के मेकेनिक को बुलाना पड़ा है, बाकी का काम सिर्फ़ एक फ़ोन 198 करने से ही हो जाता है… टेलीफ़ोन का सुधार कार्य भी 24 से 36 घण्टे के भीतर हो जाता है पूरे उज्जैन में… हो सकता है कि मैं भाग्यशाली हूँ या हो सकता है कि आपके शहर के BSNL का ढर्रा बिगड़ा हुआ हो…

    उत्तर देंहटाएं
  4. आप की बात सही है कुछ जगह इनका बुरा हाल है।लेकिन कुछ जगह बहुत चुस्ती से काम करते हैं। असल में कुछ कर्मचारी निक्म्मे हैं जिस कारण ऐसी परेशानी उठानी पड़ जाती है।

    उत्तर देंहटाएं

आपके टिप्पणी करने से उत्साह बढता है

प्रतिक्रिया, आलोचना, सुझाव,बधाई, सब सादर आमंत्रित है.......

काशिफ आरिफ

Related Posts with Thumbnails